सोमवार, 27 जुलाई 2015

Mittal SK


याूकुब मेमन के लिए क्षमा मांगने वालो की सूचि अब २०० को पार कर गयी है जैसे उनका कोई सगा फांसी पर चढ़ रहा हो .
मुझे याद आता है जब भुट्टो को पुरे विश्व की प्रार्थनाप औरर मनुहार के विपरीत जा कर फांसी पर चढ़ायाय गया था तो पाकिस्तानी राष्ट्रपत्तिन ने ब्यान दिया था कि उस एक अपराध में ६ अपराधियो को सजा हुयी थी लेकिन पुरे विश्व ने केवल भुट्टो को ही क्षमा करने को लिखा जो न्याय केत राजू पर ठीक नही था .
क्या यह बात इन कतारम में खड़े याकूब के लिए क्षमा मांगनेवालों पर सही नही उत्तरती है ?
5 Chief Ministers, 2 Ex Chief Minsters and Ex Union Minister with several AAP, Congress, CPIM office bearers can be seen in the list who have written to H.E. President for excusing and relieving ATANKI YAQUB from death sentence. The trial took long 15 years and all these had sufficient time to represent and place their evidences in the Court of law.Certainly these persons have right to speech BUT we also have right to determine that who is the anti national and communal. I appeal to each and every one to keep these names in mind to teach them lesson at appropriate time.




संपत देवी मुरारका
अध्यक्षा, विश्व वात्सल्य मंच
लेखिका यात्रा विवरण
हैदराबाद

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें