शुक्रवार, 28 अगस्त 2015

यात्रा क्रम-तृतीय भाग की समीक्षा


यात्रा क्रम-तृतीय भाग की समीक्षा

मेरी यात्रा क्रम-तृतीय भाग की समीक्षा-द्विमासिक हिन्दी पत्रिका दिवान मेरा (नागपुर) के जून-जुलाई, 2015, पुस्तक समीक्षा विशेषांक में प्रकाशित हुई है | दिवान मेरा के संपादक श्री नरेंद्र परिहारजी एवं उनकी पूरी टीम की मैं आभारी हूँ |
प्रस्तुत कर्त्ता : संपत देवी मुरारका

संपत देवी मुरारका
अध्यक्षा, विश्व वात्सल्य मंच
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी

हैदराबाद

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें