शुक्रवार, 14 अगस्त 2015

दसवां विश्‍व हिंदी सम्‍मेलन 10-12 सितंबर 2015, भोपाल समानांतर सत्र


दसवां विश्‍व हिंदी सम्‍मेलन 10-12 सितंबर 2015, भोपाल 

समानांतर सत्र

वाशिनी शर्माजी द्वारा प्रदत्त सूचनानुसार

समानांतर सत्र

विदेश नीति में हिंदी - सत्र

उप विषय:

·         हिंदी के प्रसार में राजनयिकों की भूमिका
·         हिंदी में कार्य करने में समस्‍याएं और समाधान
·         विदेश नीति की चर्चा-परिचर्चा में हिंदी
·         विदेश नीति के विषयों पर हिंदी में लेखन
·         विदेशी भाषाओं में हिंदी के भाषांतरकारों तथा अनुवादकों की कमी: एक प्रमुख बाधा
·         भारत में विदेश नीति पर अंग्रेजी का एकाधिकार

प्रशासन में हिंदी - सत्रउप विषय:

·         प्रशासनिक हिंदी शब्‍दावली की विशेषताएं: आवश्‍यकता और उपयोगिता
·         प्रशासनिक हिंदी: व्‍यवहारिक संदर्भ
·         प्रशासनिक गतिविधियां और राजभाषा का नीति-निर्धारण
·         प्रशासन में हिंदी का कार्यान्वयन: मुद्दे और चुनौतियां
·         कार्यालयी हिंदी और अनुवाद की समस्‍या

विज्ञान क्षेत्र में हिंदी - सत्र

उप विषय:

·         अंतरिक्ष विज्ञान में भारत की भूमिका एवं हिंदी भाषा के माध्‍यम से अंतरिक्ष विज्ञान में किए जा रहे प्रयास
·         हिंदी में विज्ञान शब्‍दकोश की आवश्‍यकता और वैज्ञानिक एवं तकनीकी शब्‍दों के गठन में आने वाली चुनौतियां
·         हिंदी में विज्ञान साहित्‍य की वर्तमान स्‍थिति और संभावनाएं एवं विज्ञान में हिंदी की स्‍वीकार्यता में किए जा रहे प्रयास
·         चिकित्‍सा विज्ञान में हिंदी की पढ़ाई कराने का प्रयास
·         विज्ञान लोकप्रियकरण और वैज्ञानिक सोच विकसित करने में हिंदी की भूमिका
·         हिंदी में विज्ञान संचार और रक्षा विज्ञान

संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी में हिंदी - सत्र

उप विषय:

·         संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी में हिंदी की स्‍थिति और चुनौतियां
·         हिंदी के विकास में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी की भूमिका
·         हिंदी में शिक्षण-प्रशिक्षण और ई-अधिगम (ई-लर्निंग)
·         कंप्‍यूटरई-मेलइंटरनेट और डिजिटल इंडिया में हिंदी
·         संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी में हिंदी: रोजगारमूलक संभावनाएं
·         देवनागरी के संरक्षण और संवर्द्धन के लिए इंस्‍क्रिप्‍ट

विधि तथा न्याय क्षेत्र में हिंदी और भारतीय भाषाएं– 1 सत्र

उप विषय:

·         विधि और न्‍याय क्षेत्र में हिंदी तथा भारतीय भाषाओं की आवश्‍यकता
·         विधि और न्‍याय में हिंदी की सीमाएं और संभावनाएं
·         विधि-न्‍याय में अंग्रेजी बनाम हिंदी तथा भारतीय भाषाएं

बाल साहित्य में हिंदी – 1 सत्र

उप विषय:

·         हिंदी का बाल साहित्‍य तथा विश्‍व परिपेक्ष्‍य
·         हिंदी के बाल साहित्‍य में लोरी और शिशुगीत
·         हिंदी के बाल साहित्‍य में विज्ञान
·         हिंदी के बाल साहित्‍य में कार्टून

अन्‍य भाषा भाषी राज्यों में हिंदी - 1 सत्र

उप विषय:

·         अन्‍य भाषा भाषी प्रदेशों में हिंदी: कलआज और कल
·         हिंदी प्रदेशों और अन्‍य भाषा भाषी प्रदेशों की संपर्क-सेतु: हिंदी
·         हिंदी का विकास: अन्‍य भाषा भाषी प्रदेशों में स्‍थापित हिंदी संस्‍थाओं की भूमिका
·         पूर्वोत्‍तर की भाषाओं पर हिंदी का प्रभाव

हिंदी पत्रकारिता और संचार माध्‍यमों में भाषा की शुद्धता – 1 सत्र

उप विषय:

·         हिंदी पत्रकारिता पर अंग्रेजी का बढ़ता प्रभुत्व
·         पारंपरिक पत्रकारिता और व्‍यावसायिक पत्रकारिता की भाषा: तुलनात्‍मक अध्‍ययन
·         साहित्‍य और पत्रकारिता की भाषा में अंतर: चुनौतियां एवं समाधान
·         हिंदी पत्रकारिता और हिंदी का भविष्‍य

गिरमिटिया देशों में हिंदी – 1 सत्र

उप विषय:

·         गिरमिटिया श्रमिकों का भाषा-इतिहास
·         गिरमिटिया देशों में हिंदी लेखन
·         गिरमिटिया देशों की जातीय अस्‍मिता एवं संस्‍कृति की सूत्रधार: हिंदी

विदेशों में हिंदी शिक्षण - समस्याएं और समाधान – 1 सत्र

उप विषय:

·         विदेशों में हिंदी शिक्षण: एक मूल्‍यांकन
·         विदेशों में हिंदी शिक्षण और पाठ्य सामग्री की एकरूपता
·         विदेशों में हिंदी शिक्षण का सरकारी और गैर सरकारी प्रयास

विदेशियों के लिए भारत में हिंदी अध्ययन की सुविधा – 1 सत्र

उप विषय:

·         विदेशियों के लिए हिंदी प्रशिक्षण देनी वाली संस्‍थाओं का सामंजस्‍य और विस्‍तार
·         दूरस्‍थ प्रणाली द्वारा विदेशियों को हिंदी शिक्षण
·         विदेशी छात्रों के लिए पाठ्यक्रम की एकरूपता

देश और विदेश में प्रकाशन: समस्‍याएं एवं समाधान – 1 सत्र

उप विषय:

·         विदेश में रहने वाले हिंदी लेखकों को भारत में प्रकाशन हेतु उपलब्‍ध सुविधाएं
·         हिंदी पुस्‍तकों का वैश्‍विक बाजार
·         अप्रवासी लेखकों के लिए कार्यशालाओं के आयोजन की संभावनाएं ।
--------------------------------------------------------------------------------------- 
10वां विश्व हिंदी सम्मेलन, भारत सरकार , विदेश मंत्रालय द्वारा 10-12 सितंबर 2015, भोपाल में
 आयोजित । जिसके लिए 10वें विश्व हिंदी सम्मेलन की वेबसाइट पर जाकर ऑन लाइन पंजीकरण करना है।
 पंजीकरण शुल्क 5000 रुपये है। ठहरने आदि की व्यवस्था स्वयं को करनी होगी।

डॉ.एम.एल. गुप्ता 'आदित्य',
वैश्विक हिंदी सम्मेलन, मुंबई ।

प्रस्तुत कर्त्ता
संपत देवी मुरारका
अध्यक्षा, विश्व वात्सल्य मंच
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें