शनिवार, 1 सितंबर 2018

हिन्दी सेवी डॉ. गुप्ता ‘आदित्य’ को राष्ट्रीय ‘राजभाषा गौरव’ प्रथम पुरस्कार

भारत सरकार द्वारा राजभाषा गौरव प्रथम पुरस्कार की घोषणा लिए मैं सभी शुभचिंतकों मित्रों वह परिजनों को धन्यवाद देता हूं जिनकी शुभकामनाओं से यह साकार हो सका है।


हिन्दी सेवी डॉ. गुप्ता ‘आदित्य’ को राष्ट्रीय ‘राजभाषा गौरव’ प्रथम पुरस्कार


हिन्दीभाषा डॉट कॉम परिवार ने अपने मार्गदर्शक को इस सम्मान पर जताई हार्दिक प्रसन्नता 
मुम्बई। सुप्रसिद्ध हिंदी सेवी डॉ.एम.एल. गुप्ता ‘आदित्य’ को भारत सरकार द्वारा लेखन के लिए ‘राजभाषा गौरव’ प्रथम पुरस्कार देने की घोषणा की गई है। हिन्दीभाषा डॉट कॉम परिवार ने अपने मार्गदर्शक को इस सम्मान के लिए चयनित होने पर हार्दिक बधाई देते हुए प्रसन्नता व्यक्त की है।
   यह पुरस्कार डॉ.गुप्ता को १४ सितम्बर (हिंदी दिवस) को नई दिल्ली में भारत के महामहिम राष्ट्रपति द्वारा भव्य कार्यक्रम में दिया जाएगा,जिसमें गृहमंत्री राजनाथ सिंह सहित भारत सरकार के अनेक मंत्री,सांसद,गृह सचिव,राजभाषा सचिव,  विभिन्न मंत्रालयों-विभागों के सचिव, विभिन्न बैंकों-कंपनियों के अध्यक्ष सहित अनेक वरिष्ठ अधिकारी तथा अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहेंगे।
उल्लेखनीय है कि,गृह मंत्रालय,राजभाषा विभाग के मुंबई क्षेत्रीय कार्यालय में
डॉ. गुप्ता ‘आदित्य’ सहायक निदेशक का दायित्व बखूबी निभा रहे हैं। इसके पूर्व राजभाषा विभाग की पश्चिम क्षेत्रीय कार्यान्वयन कार्यालय के उप निदेशक के रूप में भी कार्यरत रहे हैं। इसके अंतर्गत गुजरात,महाराष्ट्र,गोवा तथा दमण-दीव एवं दादर नगर हवेली क्षेत्र आता है।
उपनिदेशक (कार्यान्वयन) के तौर पर भी आपने पश्चिम क्षेत्र के केन्द्रीय कार्यालयों,  बैंकों,उपक्रमों और संस्थानों आदि में राजभाषा हिंदी के कार्य बढ़ाने के लिए बहुत ही प्रभावी ढंग से कार्य किया है।
हिन्दी सेवी डॉ. गुप्ता ‘वैश्विक हिंदी सम्मेलन’ नामक स्वयंसेवी संस्था के निदेशक और लोकप्रिय सक्रिय पोर्टल हिंदी भाषा डॉट कॉम के मार्गदर्शक भी हैं। इसके माध्यम से भी विश्वभर में हिंदी व भारतीय भाषाओं के प्रचार-प्रसार के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है। सम्मेलन के सोशल मीडिया से देश-विदेश के १२००० से भी अधिक लोग जुड़े हैं,जिनमें हिंदी सहित भारतीय भाषाओं को आगे बढ़ाने के लिए नियमित रूप से संवाद होता है। इसके द्वारा हिंदी में भारतीय भाषाओं के लिए कार्यरत व्यक्तियों व संस्थाओं को एकजुट कर इस कार्य को शक्ति प्रदान  की गई है।
हाल ही में मॉरीशस में आयोजित ग्यारहवें विश्व हिंदी सम्मेलन में भी आपने भाषा प्रौद्योगिकी के माध्यम से हिंदी व भारतीय भाषाओं के प्रचार-प्रसार के लिए गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू की अध्यक्षता में आयोजित सत्र में महत्वपूर्ण सुझाव दिए,जिन्हें सम्मेलन की सिफारिशों में शामिल किया गया है। इस सम्मेलन के उदघाटन सत्र में विदेश मंत्री एवं मॉरीशस के प्रधानमंत्री द्वारा विमोचित सम्मेलन स्मारिका एवं विदेश मंत्रालय के अंतर्गत भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद द्वारा सम्मेलन के अवसर पर प्रकाशित ‘गगनांचल’ पत्रिका के विशेषांक में भी आपके लेखों का समावेश किया गया है।
खास बात यह भी है कि,डॉ. गुप्ता ‘आदित्य’ विद्यार्थी काल से ही हिंदी में भारतीय भाषाओं के लिए प्रयासरत रहे हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय में आपने भारतीय भाषाओं की शिक्षण में अंग्रेजी माध्यम की अनिवार्यता के खिलाफ आंदोलन भी खड़ा किया था।
हिंदी में भारतीय भाषाओं के लिए निरंतर किए जा रहे प्रयासों के चलते देश-विदेश में प्रसिद्ध डॉ. गुप्ता को वर्ष २०१७-१८ के लिए राजभाषा गौरव पुरस्कार दिए जाने हेतु हिंदी भाषा डॉट कॉम के संस्थापक-सम्पादक अजय जैन ‘विकल्प’ एवं संयोजक सम्पादक डॉ.सोनाली नारगुंदे सहित प्रचार प्रमुख सुश्री नमिता दुबे एवं तकनिकी विशेषज्ञ चेतन बेंडाले द्वारा हार्दिक बधाई गई है।
प्रस्तुति: डॉ. गुप्ता 'आदित्य' 
प्रस्तुत कर्ता : संपत देवी मुरारकाविश्व वात्सल्य मंच
murarkasampatdevii@gmail.com  
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद
मो.: 09703982136

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें