मंगलवार, 3 अप्रैल 2018

"बालशौरि रेड्डी: समग्र चिंतन"


4 और 5 मार्च 2016 को हैदराबाद में एक भव्य राष्ट्रीय संगोष्ठी डॉ. सी. कामेश्वरी के संयोजन में संपन्न हुई थी, दक्षिण भारत के अप्रतिम हिंदी कथाकार डॉ. बालशौरि रेड्डी के व्यक्तित्व, कृतित्व और चिंतन पर केंद्रित। अब ठीक 2 वर्ष बाद उस संगोष्ठी पर आधारित पुस्तक "बालशौरि रेड्डी: समग्र चिंतन" मिलिंद प्रकाशन से आई है। संपादक हैं -डॉ. सी कामेश्वरी और डॉ. संध्या दास।  140 पृष्ठ की इस पुस्तक में कुल 27 आलेख हैं जिनमें संस्मरण और परिचयात्मक सामग्री से लेकर शोधपत्र तक सम्मिलित हैं। निस्संदेह डॉ बालशौरि रेड्डी को इस रूप में याद करने के लिए संपादक, लेखक और प्रकाशक बधाई के अधिकारी हैं।

प्रस्तुति: डॉ.ऋषभदेवजी शर्मा 


प्रस्तुत कर्ता : संपत देवी मुरारका, विश्व वात्सल्य मंच
murarkasampatdevii@gmail.com  
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद
मो.: 09703982136

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें