सोमवार, 18 जनवरी 2016

संपतदेवी मुरारका को “श्रीराजकुमार चोपड़ा मौलिक कृति भागीरथ सम्मान” प्रदत्त





संपतदेवी मुरारका को श्रीराजकुमार चोपड़ा मौलिक कृति भागीरथ सम्मान प्रदत्त
तमिलनाडु हिंदी साहित्य अकादमी एवं द्वारकादास गोवर्धनदास वैष्णव कॉलेज, चेन्नै के हिंदी विभाग के संयुक्त तत्त्वावधान में दि.9-10 जनवरी 2016 को अरुम्बाक्कम स्थित डी.जी. वैष्णव कॉलेज के सभागार में विश्व हिन्दी दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित द्विदिवसीय, चतुर्थ अंतर्राष्ट्रीय साहित्यिक सम्मेलन एवं सम्मान समारोह में हैदराबाद की लेखिका संपतदेवी मुरारका को श्रीराजकुमार चोपड़ा भागीरथ सम्मान प्रदान किया गया |
     आज यहाँ जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार उद्घाटन और समापन के मुख्य अतिथि रहे क्रमश: डॉ.बालमुकुंद पांडे (राष्ट्रीय संगठन सचिव, नई दिल्ली) और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल, महामहिम श्री केशरीनाथ त्रिपाठी | सम्मान समारोह के अवसर पर लेखिका संपतदेवी मुरारका को उनकी मौलिक कृति के लिए श्रीराजकुमार चोपड़ा भागीरथ सम्मान के रूप में पांच हजार एक सौ, शाल, प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिह्न मुख्य अतिथि महामहिम श्री केशरी नाथ त्रिपाठी के करकमलों द्वारा प्रदान किया गया |
     कार्यक्रम का संचालन कमश: मंजू रुस्तगी और श्रावणी भट्टाचार्य ने किया | रविता भाटिया के आभार प्रदर्शन के साथ द्विदिवसीय कार्यक्रम सफलता पूर्वक संपन्न हुआ |
प्रस्तुति: संपत देवी मुरारका (विश्व वात्सल्य मंच)
संपतदेवी मुरारका
अध्यक्ष, विश्व वात्सल्य मंच
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें