शुक्रवार, 18 सितंबर 2015

सीएस. प्रवीण कुमार जैन,



महोदय,

इन पुरस्कारों का क्या लाभ जब आप हिन्दी दिवस की विज्ञप्ति भी हिन्दी में जारी नहीं कर रहे हैं?  यह बहुत ही शर्मनाक है कि राष्ट्रपति सचिवालय में भी हिन्दी का अनादर किया जा रहा है, राजभाषा को नीचे रखते हुए हर कार्य अंग्रेजी में किया जा रहा है। यह विज्ञप्ति हिन्दी में कब आएगी? आम तौर पर राष्ट्रपति सचिवालय में केवल अंग्रेजी में काम हो रहा है और राजभाषा सम्बन्धी प्रगति की त्रैमासिक रिपोर्ट भी नहीं भेजी जा रही है।  हिन्दी में विज्ञप्ति लिखने के लिए राष्ट्रपति सचिवालय एक भी अधिकारी नियुक्त नहीं किया गया है, जो अधिकारी अभी है शायद उनको हिन्दी का ज्ञान नहीं है इसलिए अनुवादक को जब मर्जी पड़ती है वह अंग्रेजी विज्ञप्तियों का दो-चार दिन बाद अनुवाद करके हिन्दी वेबसाइट पर डालकर अपने कर्तव्य की इतिश्री कर लेता है।  

क्या राजभाषा विभाग इनके विरुद्ध कोई कार्रवाई करेगा? कार्रवाई के लिए संबंधित विज्ञप्ति जो वेबसाइट पर है, का चित्र (स्क्रीन शॉट 14 सितम्बर 2015 समय 12: 46 अपराह्न) संलग्न है। 



-- 
भवदीय,
सीएस. प्रवीण कुमार जैन
कम्पनी सचिववाशीनवी मुम्बई – ४००७०३.
इनलाइन चित्र 1

प्रस्तुत कर्त्ता
संपत देवी मुरारका
अध्यक्षा, विश्व वात्सल्य मंच
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद
__._,_.___

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें