शुक्रवार, 5 अक्तूबर 2018

परिकल्पना का अगला पड़ाव वियतनाम-कंबोडिया और थाईलैंड 25 मई 2019 से 03 जून 2019 तक



परिकल्पना का अगला पड़ाव
वियतनाम-कंबोडिया और थाईलैंड
25 मई 2019 से 03 जून 2019 तक
================================
भारत, नेपाल, भूटान, श्री लंका, थाईलैंड, न्यूजीलैंड, सिंगापूर, मलेशिया, इन्डोनेशिया और मॉरीशस के बाद परिकल्पना की टीम आगामी मई 2019 मे वियतनाम के लिए प्रस्थान करने जा रही है। 25 मई 2019 से 03 जून 2019 को वियतनाम में आयोजित 11 वें "अंतरराष्ट्रीय हिन्दी उत्सव" में केवल भारत से 100 प्रतिभागी उपस्थित होंगे।ऐसी संभावना है।
साउथ ईस्ट एशिया का छोटा-सा खूबसूरत और शांत देश है-वियतनाम एशिया में सबसे खूबसूरत देशों में से एक है। भारत चीन प्रायद्वीप के पूर्वी किनारे के साथ फैला हुआ देश वियतनाम में सफेद रेतीले तटों के साथ बिंदीदार 3,260 किमी के अद्भुत समुद्र तट, शांत खण्ड और ज्वलंत प्रवाल भित्तियां इसकी खूबसूरती को बयान करती है। कंबोडिया और थाईलैंड इसके पड़ोसी देश हैं।
वियतनाम हमारे देश के लिए भी हमेशा से ही महत्वपूर्ण रहा है। इसकी मुख्य वजह है बौद्ध धर्म। इतना ही नहीं वियतनाम युद्ध के दौरान भारत के हर प्रगतिशील और वैश्विक राजनीति में रुझान रखने वाले छात्र व शिक्षक ‘‘तेरा नाम, मेरा नाम वियतनाम-वियतनाम...‘‘करते फिरते थे। कालेज से और समाज से वियतनाम के लिए चंदा इकट्ठा करते थे। हालांकि, वियतनाम में इसके अलावा भी बहुत कुछ है जो उसे सामान्य से विशेष स्थान दिलाता है।
उक्त अवसर पर आयोजित संगोष्ठी -हिन्दी की वैश्वकिता और उस दिशा में किए जा रहे प्रयास पर प्रतिभागी अपना आलेख पाठ कर सकेंगे। इसके अलावा प्रतिभागियों के लिए वियतनाम,कंबोडिया और थाईलैंड के प्रमुख दर्शनीय स्थलों का सांस्कृतिक पर्यटन अवसर भी उपलब्ध होगा।

प्रस्तुत कर्ता : संपत देवी मुरारका, विश्व वात्सल्य मंच
murarkasampatdevii@gmail.com  
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद
मो.: 09703982136

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें