रविवार, 8 जुलाई 2018

[वैश्विक हिंदी सम्मेलन ] परमाणु-वैज्ञानिक विजय भार्गव का भाषा पर लेख, झिलमिल में भाषा समस्या पर डॉ. वेदप्रताप वैदिक का भाषण तथा हिंदी भाषा ,कॉम



-------------------------------------------------------------------------------------------------
भाषा समस्या पर 
डॉ. वेदप्रताप वैदिक का भाषण

-----------------------------------------------------------------------------------------------
           हिंदीभाषा.कॉम 
       hindibhashaa.com  

आदरणीय रचना शिल्पी
मित्र आपको हृदय तल से सहर्षादर अभिवादन !

आपको सूचित करते हुए बड़ी खुशी है कि,पोर्टल hindibhashaa.com  को निरन्तर कामयाबी मिल रही है..जानकर बेहद प्रसन्नता होगी कि,पोर्टल ने सार्वजनिक रुप से अपनी यात्रा के २ महीने ३० अप्रैल २०१८ की रात को पूरे कर लिए हैं..१४ अप्रैल की सुबह तक इस वेबसाइट को देखने वालों की जो संख्या १ लाख थी..आपके संदेश पढ़ने तक यह संख्या ४.२३ लाख (पहले माह साढ़े ४७ हजार)से ऊपर है..यह आप जैसे सुधी लेखकों,जागरूक पाठकों और हमारी सक्रियता की खुशी है। याद हो कि, १ मार्च २०१८ से हमने आप-से रचनाकारों के साथ मिलकर हिंदीभाषा.कॉम (hindibhashaa.com) की यात्रा शुरु की थी,जिसे ३१ मार्च २०१८ की रात को एक महीना हुआ और अब तीसरा माह शुरू हो गया है..इस भाषाई पोर्टल को सबने सहर्ष अपनाया और देश-विदेश में अपनी रचनाओं के जरिए मातृभाषा हिंदी का मान बेहद बढ़़ाया..इसी आशा में आभार कि,इस पटल (वेबसाइट)को आपसे तथा आमजन से भविष्य में भी इतना ही शानदार उत्साह, साथ,प्रतिसाद,और पूरा सहयोग मिलता रहेगा..ईश्वर को धन्यवाद कि,हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने के इस महती अभियान में बेहद सीमित संसाधन में भी हम सब सुप्रयास से .२३  लाख आगंतुकों/दर्शकों (विजिटर्स)को पटल तक लाने में सफल हुए.. इसके लिए आपकी अप्रत्यक्ष सहभागिता को भी अनुपम धन्यवाद, आभार एवं साधुवाद.. ईश्वर के आशीर्वाद से रचनाकारों की संख्या बढ़कर २०५ पर आ गई है।

पुनश्च निवेदन कि, अंतरजाल की दुनिया में इस मंच के जरिए राजभाषा से राष्ट्रभाषा की ओर एक कदम के पोर्टल के अभियान के साथ सक्रियता से चलिए..ताकि मातृभाषा हिंदी को राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय अधिकृत दर्जा हासिल हो..हमारे परिश्रम और योजनाओं पर भरोसा रखिए.. आपके सुझाव सहर्ष आमंत्रित हैं..जाने-अनजाने 

*हिंदीभाषा.कॉम परिवार* से हुई त्रुटि के लिए हार्दिक खेद है..

आपसे सहृदय सक्रियता-सहयोग-शुभकामना एवं तन-मन-धन से सहयोग की अपेक्षा,क्योंकि ये मंच आपका है...।   धन्यवाद🙏


अजय जैन 'विकल्प'
संस्थापक-संपादक: हिन्दी भाषा.कॉम
सतत् सम्पर्क - ९७७००६७३०० 
>विशेष वरिष्ठ संवाददाता-दैनिक स्वदेश समाचार-पत्र,इंदौर(म.प्र.),  >पूर्व कार्यकारिणी सदस्य-इन्दौर प्रेस क्लब,इन्दौर(म.प्र.)



वैश्विक हिंदी सम्मेलन, मुंबई

-- 
वैश्विक हिंदी सम्मेलन की वैबसाइट -www.vhindi.in
'वैश्विक हिंदी सम्मेलन' फेसबुक समूह का पता-https://www.facebook.com/groups/mumbaihindisammelan/
संपर्क - vaishwikhindisammelan@gmail.com


प्रस्तुत कर्ता : संपत देवी मुरारका, विश्व वात्सल्य मंच
murarkasampatdevii@gmail.com  
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद
मो.: 09703982136

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें