शनिवार, 1 दिसंबर 2018

फिजी में पहला अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन १५ फरवरी से

फिजी में पहला अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन १५ फरवरी से


मुम्बईl
हिंदी प्रेमी सभी मित्रों को सादर नमस्कार। पिछले वर्ष फिजी में पहले अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन के आयोजन की परिकल्पना की गई थी,परंतु विश्व हिंदी सम्मेलन के चलते इस सम्मलेन को स्थगित कर दिया गया था। अब यह सम्मेलन भारतीय उच्चायोग द्वारा १५-१७ फरवरी(२०१९) को किया जा रहा है। इस सम्मेलन की विशेषता यह है कि,पैसिफक में हिंदी का विशालतम सम्मेलन,फिजी में पहला ऐतिहासिक अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन,भारतीय उच्चायोग का आयोजन,फिजी सरकार और फिजी शिक्षा मंत्रालय का समर्थन,१२ देशों में कार्यरत यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ पैसिफिक सह-आयोजक,फिजी नेशनल यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ फिजी का सहयोग,भारतीय डायसपोरा व समस्त हिंदी संस्थाओं का सहयोग,मारिशस, सूरीनाम,त्रिनिडाड,साउथ अफ्रीका,गुयाना देशों से भागीदारी ,पैसिफिक के पड़ोसी देश आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड से बड़ी संख्या में भागीदारी-विशेषकर फिजीयन डायसपोरा की तथा विशेष संदर्भ-महात्मा गाँधी की १५० वीं जयंती पर एक विशेष सत्र होगाl समांतांर सत्रों के माध्यम से अधिक से अधिक वक्ताओं को बोलने का अवसर,यूरोप और अमेरिकी महाद्वीप से भागीदारी,भारत की सर्वश्रेष्ठ मानी जाने वाली रामलीला का सांस्कृितक कार्यक्रम के रूप में प्रदर्शन के साथ ही भारत के प्रख्यात कवियों-कवियित्रियों की भागीदारी रहेगीl इस सम्मेलन में सादर सभी हिंदी के विद्वानों और हिंदी सेवियों का स्वागत है।
(सौजन्य:वैश्विक हिंदी सम्मेलन,मुम्बई)
प्रस्तुत कर्ता : संपत देवी मुरारका, विश्व वात्सल्य मंच
murarkasampatdevii@gmail.com  
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद
मो.: 09703982136

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें