बुधवार, 13 दिसंबर 2017

विश्व वात्सल्य मंच ने पूर्व चेयरमैन न्यायाधीश बी सुभाषण रेड्डी का किया सम्मान








 



विश्व वात्सल्य मंच ने पूर्व चेयरमैन न्यायाधीश बी सुभाषण रेड्डी का  किया सम्मान  

विश्व वात्सल्य मंच, हैदराबाद, के तत्वाधान में रविवार 10 दिसंबर 2017 की सुबह 10 बजे विश्व मानवाधिकार दिवस बशीरबाग में स्थिति राज्य मानवाअधिकार आयोग के पूर्व चेयरमैन न्यायाधीश वी सुभाषण रेड्डी के आवास में मनाया गया |
       प्रेस विज्ञप्ति में जानकारी देते हुए श्रीमती संपत देवी मुरारका (अध्यक्ष, विश्व वात्सल्य मंच) राजेश मुरारका (प्रधान सचिव) ने आगे बताया कि इस अवसर पर जस्टिस सुभाषण रेड्डी ने कहा कि विद्या, वैद्यकीय उपचार, नौकरी, शुद्ध आहार प्रत्येक नागरिक को मिले, तभी मानव अधिकारों का सार्थक होगा | अपने अधिकारों का उपयोग करते हुए दूसरों के अधिकारों का भी सम्मान करना चाहिए | अधिकारों के साथ-साथ अपने कर्तव्य को महत्व देना चाहिए | जब समानता का सूत्र साकार होगा, तब देश के सभी क्षेत्रों में समृद्धि होगी। संविधान में उल्लेखित अधिकारों को महिला, युवा एवं स्वैच्छिक संस्थाएं अधिवक्तायें आदि लोगों को जागृत करने की आवश्यकता है | तेलंगाना सिटीजन  राज्य अध्यक्ष डॉ. राजनारायण मुदीराज ने कहा कि दहेज मांगना मानव अधिकार का उल्लंघन करने के समान है |
       न्यायाधीश सुभाषण रेड्डी को गत 50 वर्षों का न्याय विभाग में अनुभव एवं न्यायाधीश एवं मानवाधिकार आयोग के पूर्व चेयरमैन लोकायुक्त की उल्लेखनीय सेवाओं के लिए संपत देवी मुरारका, राजेश मुरारका एवं कार्यकारिणी सदस्य गीता अग्रवाल ने शाल एवं पुष्पगुच्छ से सम्मान किया | इस अवसर पर महिला कलाकार एनएसएस विद्यार्थी अधिवक्ताओं आदि उपस्थित थीं |
प्रस्तुति : संपत देवी मुरारका (विश्व वात्सल्य मंच)
email: murarkasampatdevii@gmail.com
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद
मो.: 09703982136

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें