शनिवार, 17 अगस्त 2013

गोइन्का पुरस्कार व सम्मान समारोह हैदराबाद में संपन्न

चित्र परिचय :
बाएँ से – डॉ.राधेश्याम शुक्ल, श्यामसुंदर गोइन्काडॉ.ऋषभदेव शर्माडॉ.जे.एल.रेड्डीरवि श्रीवास्तवडॉ.एम.वेंकटेश्वरडॉ.हेमराज मीणा और ओमप्रकाश गोइन्का.


                                  


गोइन्का पुरस्कार व सम्मान समारोह  हैदराबाद में संपन्न

दिनांक 11 अगस्त रविवार  हैदराबाद के एन.टी.आर. कलामंदिरम में कमला गोइन्का फाउंडेशन द्वारा आयोजित आंध्रप्रदेश  वरिष्ठ हिंदी साहित्यकारों एवं हिंदी पत्रकारों के सम्मानार्थ समारोह में कमला गोइन्का फाउंडेशन के प्रबंधन्यासी  श्यामसुंदर गोइन्का ने पुरस्कृत साहित्यकारों एवं पत्रकारों के योगदान को सराहा व संस्था का परिचय दिया.

आंध्रप्रदेश के तेलुगुभाषी हिंदी साहित्यकारों के लिए 21 हजार रुपए का गीतादेवी गोइन्का हिंदी तेलुगु अनुवाद पुरस्कार 2013डॉ. जे.एल.रेड्डी को उनकी श्रेष्ठ  अनुवाद  कृति पुराण प्रलापमके लिए दिया गया.

आंध्रप्रदेश के वरिष्ठ हिंदी साहित्यकारों के सम्मान में घोषित भाभीश्री रमादेवी गोइन्का हिंदी साहित्य सम्मान 2013से वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. ऋषभदेव शर्मा को उनके साहित्यिक योगदान के लिए सम्मानित किया गया.

साथ ही आंध्रप्रदेश के हिंदी पत्रकारिता जगत के वरिष्ठ पत्रकारों के सम्मानार्थ घोषित श्री मुनींद्र पत्रकारिता सम्मानसे हैदराबाद से प्रकाशित प्रमुख हिंदी दैनिक मिलापके कार्यकारी संपादक रवि श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया.

समारोह के मुख्य अतिथि भास्वर भारतमासिक पत्रिका के संपादक डॉ. राधेश्याम शुक्ल ने सम्मानमूर्ति साहित्यकारों का अभिनंदन किया. विशेष अतिथि क्षेत्रीय निदेशक, केंद्रीय हिंदी संस्थान, हैदराबाद के प्रो. हेमराज मीणा ने साहित्यिक गतिविधियों के लिए न्यास को बधाई दी. समारोह अध्यक्ष,  हिंदी एवं भारत अध्ययन विभाग, अंग्रेजी एवं विदेशी भाषा विश्वविद्यालय, हैदराबाद, के पूर्व अध्यक्ष  डॉ. एम.वेंकटेश्वर ने कमला गोइन्का फाउंडेशन द्वारा साहित्यकारों, पत्रकारों के सम्मानार्थ चलाए जा रहे इस मुहिम  को व हिंदी साहित्य के प्रति किए जा रहे कार्यों की भरपूर सराहना की और गोइन्का जी को बधाई दी .

कार्यक्रम का संचालन  ललिता गोइन्का ने किया. अंत में ओमप्रकाश गोइन्का ने आभार व्यक्त किया. इस अवसर पर प्रादेशिक पुरस्कार समिति के सदस्य डॉ. टी.मोहन सिंह, डॉ. बी.सत्यनारायण, संपत देवी मुरारका, अहिल्या मिश्र, जी.नीरजा तथा डॉ. एम.रंगय्या सहित हैदराबाद के अनेक गणमान्य साहित्य प्रेमी व्यक्ति मौजूद थे.


संपत देवी मुरारका
लेखिका यात्रा विवरण
मीडिया प्रभारी
हैदराबाद




कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें