गुरुवार, 26 जनवरी 2012

डॉ. राधेश्याम शुक्ल आचार्य हस्ती सेवा सम्मान से सम्मानित


डॉ. राधेश्याम शुक्ल आचार्य हस्ती सेवा सम्मान से सम्मानित



 डॉ. राधेश्याम शुक्ल आचार्य हस्ती सेवा सम्मान से सम्मानित

15 जनवरी 2012 को हैदराबाद में जैनाचार्य हस्तीमल जी की स्मृति में स्थापित ‘आचार्य हस्ती फाउंडेशन’, हैदराबाद की और से हिंदी महाविद्यालय के सभागृह में इस वर्ष का ‘आचार्य हस्ती सेवा-सम्मान’ ‘स्वतंत्र वार्ता’ के संपादक डॉ. राधेश्याम शुकल को प्रदान किया गया |

उल्लेखनीय है कि यह सम्मान साहित्य, कला एवं सस्कृति के क्षेत्र में समर्पित विशिष्ट सेवाओं के लिए प्रदान किया जाता है | इस सम्मान में माला, शॉल, प्रशस्ति-पत्र, साहित्य एवं 11 हजार रुपये की धनराशि का समावेश है | पिछले वर्ष यह सम्मान प्रख्यात कलाविद पद्मश्री जगदीश मित्तल को प्रदान किया गया था |

इस अवसर पर समारोह की अध्यक्षता समाज सेवी जैन-रत्न सुरेंद्रमल लूणिया ने  की | श्री बुधमल बोहरा, अ. भा. श्री जैन रत्न युवक परिषद, चेन्नई के राष्ट्रीय अध्यक्ष (मुख्य अतिथि), डॉ. ऋषभदेव शर्मा, अध्यक्ष, उच्च शिक्षा और शोध संस्थान, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा खैरताबाद (विशेष अतिथि) एवं स्वरुपचंद कोठारी, अध्यक्ष श्री व. स्था. जैन श्रावक संघ ग्रेटर हैदराबाद (विशेष अतिथि) मंचासीन हुए |

श्रीमती कल्पना सुराणा के मंगलाचरण से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ | स्वागत भाषण फाउंडेशन के अध्यक्ष हस्तीमल गुंदेचा ने दिया | महामंत्री श्रीपाल देशलहरा ने संस्था की रिपोर्ट प्रस्तुत की | श्रीमती सुराणा ने आचार्यश्री हस्तीमलजी द्वारा रचित दो आध्यात्मिक गीत सस्वर प्रस्तुत किये |

सर्वश्री बुधमल बोहरा, डॉ. ऋषभदेव शर्मा, स्वरुपचंद कोठारी, हस्तीमल मुणोत, निर्मलकुमार सिंघवी, अलका चौधरी आदि वक्ताओं ने आचार्यश्री के प्रति श्रद्धासुमन अर्पित किये एवं सम्मान-ग्रहणकर्ता डॉ. राधेश्याम शुक्ल को बधाई एवं शुभकामनाएँ अर्पित की | कोषाध्यक्ष तेजराज जैन ने प्रशस्ति-पत्र का वाचन किया | श्री बुधमल बोहरा एवं अन्य अतिथियों ने डॉ. राधेश्याम शुक्ल को यह प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया | एवं संपत देवी मुरारका, अध्यक्ष इण्डिया काईन्डनेस मूवमेंट ने भी डॉ. राधेश्याम शुक्लजी का शॉल द्वारा सम्मान किया | डॉ. राधेश्याम शुक्ल ने आभार प्रकट करते हुए कहा कि आचार्य हस्तीमल जी जैसे संत महापुरुष के नाम पर प्रवर्तित इस सम्मान को पाकर मैं गौरवान्वित हुआ हूँ | सहमंत्री पारस डोसी ने धन्यवाद ज्ञापित किया |

सभा का संचालन श्रीपाल देशलहरा ने किया | राष्ट्रगान के साथ सभा विसर्जित हुई |समारोह में शहर के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे |
 संपत देवी मुरारका
हैदराबाद





3 टिप्‍पणियां:

  1. यह सम्मान देकर हैदराबाद गौरवान्वित हुआ॥

    उत्तर देंहटाएं
  2. Adarneey Radheyshyaam Shukl ko is samman ke liye
    meri Hardik Badhai.
    Kamal

    उत्तर देंहटाएं
  3. धन्यवाद चंद्रमौलेषर जी एवं अग्रज भाई कमल जी |

    उत्तर देंहटाएं