गुरुवार, 8 मार्च 2012

सम्मान समारोह एवं होली काव्य संध्या आयोजित









सम्मान समारोह एवं होली काव्य संध्या आयोजित

ऑथर्स गिल्ड ऑफ इण्डिया हैदराबाद चैप्टर, कादम्बिनी क्लब हैदराबाद एवं इण्डिया काइंडनेस मूवमेंट के संयुक्त तत्वावधान में मंगलवार दिनांक 6 मार्च 2012 को होली की पूर्व संध्या पर नगर में पधारे साहित्यकारों का सम्मान समारोह एवं विशेष काव्य पाठ संध्या का आयोजन श्रीमती संपत देवी मुरारका के निवास स्थान पर आयोजित किया गया |

ऑथर्स गिल्ड ऑफ इण्डिया हैदराबाद चैप्टर की अध्यक्षा तथा कादम्बिनी क्लब की संयोजिका डॉ. अहिल्या मिश्र एवं इण्डिया काइंडनेस मूवमेंट की अध्यक्षा श्रीमती संपत देवी मुरारका ने आज यहाँ संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में आगे बताया कि इसकी अध्यक्षता प्रो. ऋषभदेव शर्मा (विभागाध्यक्ष, उच्च शिक्षा शोध संस्थान द. भा. हि. प्र. सभा खैरताबाद) ने की | श्री हीरालाल बाछोतिया (मुख्य अतिथि), श्री रामजन्म शर्मा, प्रो. हेमराज मीणा दिवाकर, डॉ.मीता शर्मा, श्री रामगोपाल गोयन्का (विशेष अतिथि), श्रीमती संपत देवी मुरारका एवं डॉ. अहिल्या मिश्र मंचासीन हुए | गणमान्य मंचासीन अतिथियों के कर कमलों से दीप प्रज्वलित किया गया | ज्योति नारायण ने सुमधुर सरस्वती वंदना प्रस्तुत की | डॉ. मिश्र ने उपस्थित सभा को होली पर्व की शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि शहर में साहित्यिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियाँ निरंतर चलती रहती है | नवांकुरों को मंच प्रदान कर उन्हें मार्गदर्शन किया जाता है | नगर में पधारे हमारे अतिथियों को भी यह बात वैविष्ट पूर्ण लगी होगी ऐसा मुझे विश्वास है | इण्डिया काइंडनेस मूवमेंट संस्था की अध्यक्षा संपत देवी मुरारका ने कहा कि होली के रंग जिस तरह एक दूसरे में मिल जाते हैं मनुष्य भी इस गुण को अपनाएँ | तत्पश्चात उपरोक्त संस्थाओं की ओर से संयुक्त रूप से अतिथियों का मोती माला, पुष्प गुच्छ एवं अंग वस्त्र से सम्मान किया गया | श्री बाछोतिया, डॉ.मीता, श्री शर्मा, श्री गोयन्का, श्री मीणा ने सभी को होली की बधाई दी |

गुलाल का टीका और रंगों के बीच विजयलक्ष्मी काबरा, तनुजा व्यास, लता व्यास, हेमलता शर्मा ने होली गीतों की सुन्दर प्रस्तुति दी | सुरेश जैन, ज्योति नारायण, विनीता शर्मा, जी. परमेश्वर, डॉ. नीरजा, पुष्पा वर्मा, भावना पुरोहित, डॉ. मदन देवी पोकरणा, शीला सौन्थालिया, मीना मूथा, दयानंद, विनोद कुमार, श्रीनिवास, संपत देवी मुरारका, डॉ. अहिल्या मिश्र, श्री बाछोतिया, डॉ. मीता, श्री शर्मा, श्री मीणा आदि ने हास्य व्यंग रचनाओं की प्रस्तुति दी | प्रो. ऋषभदेव शर्मा ने अध्यक्षीय बात रखते हुए कहा कि आज की इस होली पूर्व काव्य संध्या में भारतीय संस्कृति के रंगों में सराबोर लोक गीत एवं हास्य व्यंग काव्य पाठ ने एक अलग ही समां बाँध दिया | राजस्थान के लोग यहाँ भी हैं वे उस मिट्टी की गंध और त्योंहार के उल्हास को साथ ले जाते हैं | वृन्दावन और बरसाने की होली का अपना ही आनंद है जो आज मुझे यहाँ देखने को मिला | अध्यक्षीय काव्य पाठ के साथ उन्होंने अपनी बात का समापन किया |

श्री राजेश मुरारका, गीता अग्रवाल, सीता अग्रवाल ने कार्यक्रम व्यवस्था .. देखरेख एवं स्वरुचि भोज व्यवस्था की जिम्मेदारी को संभाला | मीना मूथा ने कार्यक्रम का संचालन किया | ज्योति नारायण ने उपस्थित सभा का आभार व्यक्त किया |

श्रीमती संपत देवी मुरारका
लेखिका यात्रा विवरण 
मीडिया प्रभारी 
हैदराबाद 

4 टिप्‍पणियां:

  1. होली-धुलैंडी के अवसर पर इतने सुंदर आयोजन के लिए विशेष रूप से संपत देवी मुरारका और गीता-सीता-राजेश बधाई के पात्र हैं.

    प्रेम बना रहे.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुंदर आयोजन के लिए बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  3. आ.ऋषभदेव जी,
    आप पधारे तो आयोजन सुन्दर होना ही था. आभारी हूँ | धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  4. आ.डॉ. अनीता कपूर जी ,
    आयोजन को सराहा , आभारी हूँ | धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं